लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर
बलात्कार के मामले में तरुण तेजपाल के खिलाफ आरोप तय
शकुंतला विवि में दिव्यांग छात्रों के लिए बढ़ाई गईं सुविधाएं

राज्य

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

कभी मोदी को जरूरतमंद गरीब के घर में नहीं देखा : प्रियंका

कभी मोदी को जरूरतमंद गरीब के घर में नहीं देखा : प्रियंका

देवरिया,15 मई(वार्ता)  15 May 2019      Email  

देवरिया,15 मई कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने तंज कसा कि चुनिंदा उद्योगपतियों का भला करने में मशगूल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने पांच साल के कार्यकाल के दौरान कभी किसी जरूरत गरीब के घर का रूख नहीं किया। 

देवरिया से तीस किलोमीटर दूर सलेमपुर में पार्टी प्रत्याशी राजेश मिश्रा के समर्थन में आयोजित एक चुनावी सभा में श्रीमती वाड्रा ने बुधवार को कहा “ आप लोगों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चीन, जापान आदि देशों में जाते हुए देखा होगा। चीन में राष्ट्रपति से गले मिलते हुए भी टीवी में देखा होगा। पाक में बिरयानी खाते हुये भी देखा होगा लेकिन जब देश की गरीब और आम जनता पर आफत आयी तो किसी ने श्री मोदी को उनके बीच नहीं देखा। ”

उन्होंने कहा “ कभी प्रधानमंत्री को किसी जरूरतमंद गरीब के घर में देखा है। पांच सालों में ऐसा हुआ ही नहीं। श्री मोदी की विचारधारा उन तक ही सीमित है। सत्ता के मोह माया में उनका जनता से नाता टूट चुका है। देश के किसान कर्ज में डूब रहे हैं। इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री चुप हैं। किसान प्रताड़ित और कर्ज में डूबता जा रहा है। उसे उपज का दाम नहीं मिल पा रहा है। बीज और खाद समय से नहीं मिल रहे हैं। आवारा पशुओं से परेशान है। देश के हजारों किसान विभिन्न राज्यों से पैदल चलकर उनसे दिल्ली में मिलने आते हैं लेकिन वे किसानों से नहीं मिलते। ”

पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी ने कहा कि देश में किसान बदहाल हैं और किसानों का रिण न माफ कर मोदी सरकार बड़े-बड़े उद्योगपतियों की रिण माफ कर रही है। आज देश में गन्ने के किसानों का हजारों करोड़ रूपये बकाया है लेकिन इस मुद्दे पर श्री मोदी सुनने वाले नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि देश के हजारों किसानों से बीमा की राशि के तौर पर करीब दस हजार करोड़ रूपये लिये जाते है। ये रकम बड़े-बड़े उद्योगपतियों और बीमा कम्पनियों की जेब में जाती है। देश का किसान कर्ज में डूब रहा है। इसी का नतीजा है कि पांच साल में देश में 12 हजार किसानों ने आत्महत्या कर ली। 

अपनी सरकारों का गुणगान करते हुये उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासित प्रदेशों की सरकारें किसानों की समस्या के निराकरण के लिए कटिबद्ध हैं और मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में सरकार बनने के 72 घंटे बाद ही किसानों के कर्ज को माफ कर दिया गया।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें