लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर
बलात्कार के मामले में तरुण तेजपाल के खिलाफ आरोप तय

राज्य

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

बिहार में माता-पिता की सेवा नहीं करने वाली संतानें जायेंगी जेल

बिहार में माता-पिता की सेवा नहीं करने वाली संतानें जायेंगी जेल

पटना 11 जून (वार्ता)  11 Jun 2019      Email  

पटना 11 जून  बिहार सरकार ने आज एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है जिसमें माता-पिता की सेवा नहीं करने वाली संतानों को अब जेल की सजा भी हो सकती है ।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में आज मंत्रिमंडल की हुई बैठक में समाज कल्याण विभाग के इससे संबंधित प्रस्ताव को स्वीकृति दी गयी। बिहार में रहने वाली संतान यदि माता-पिता की सेवा नहीं करती है तो उनको जेल की सजा हो सकती है । माता-पिता की शिकायत मिलते ही ऐसी संतानों पर कार्रवाई होगी। मंत्रिमंडल विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि मंत्रिमंडल ने 2007 में केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का भरण-पोषण तथा कल्याण अधिनियम में संशोधन किया है। पूर्व में बच्चों द्वारा प्रताडि़त किए जाने वाले माता-पिता को न्याय के लिए जिलों के परिवार न्यायालय में अपील करनी होती थी। जहां सुनवाई प्रधान न्यायाधीश के स्तर पर होती थी। अब माता-पिता जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित अपील अधिकरण में अपील करेंगे । जिलाधिकारी ही मामले की सुनवाई करेंगे। 

श्री कुमार ने बताया कि मंत्रिमंडल ने मुख्यमंत्री वृद्ध जन पेंशन को लोक सेवाओं के अधिकार कानून (आर टी पी एस) के दायरे में लाने से संबंधित प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है । अब आवेदन देने के 21 दिनों के भीतर पेंशन भुगतान पर हर हाल में प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) को फैसला करना होगा। ऐसा नहीं होने पर आवेदक अनुमंडल पदाधिकारी (एसडीओ) के पास अपील कर सकता है । एसडीओ इस पर 15 दिनों के भीतर फैसला कर लेंगे। एसडीए के फैसले के खिलाफ जिलाधिकारी (डीएम) के पास अपील होगी। डीएम को भी 15 दिनों के भीतर फैसला कर लेना होगा।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

रुपया 21 पैसे उछला
रुपया 21 पैसे उछला

मुंबई 26 जून  दुनिया की प्रमुख मुद्राओं के बॉस्केट में अमेरिकी मुद्रा के कमजोर पड़ने से बुधवार को अंतरबैंकिंग मुद्र