लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी

स्थानीय

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

यूपी के गांवों में अनाज भंडारण के लिए बनेंगे 5000 गोदाम

यूपी के गांवों में अनाज भंडारण के लिए बनेंगे 5000 गोदाम

लखनऊ (भाषा)।   27 Oct 2020      Email  

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार किसानों को फसल सुरक्षित रखने और उसकी अच्छी कीमत दिलाने के लिए गांवों में 5000 भंडारण गोदाम बनाएगी। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने सोमवार को बताया कि किसानों की सुविधा के लिए सरकार गांवों में 5000 भंडारण गोदाम बनाने जा रही है। प्रदेश के किसानों को अब अपनी फसल बेचने के लिए इधर उधर भटकना नहीं पड़ेगा। किसान अपनी उपज को अपनी सुविधा के मुताबिक बेचकर बेहतर कीमत ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार की योजना लगभग हर गांव में एक भंडारण गोदाम बनाने की है, हालांकि पहले चरण में करीब हर 10 गांव पर एक गोदाम बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। करीब 2500 करोड़ रुपए की लागत से बनने जा रहे 5000 गोदामों से प्रदेश की भंडारण क्षमता में 8.60 लाख मीट्रिक टन की बढ़ोतरी होगी। प्रवक्ता ने बताया कि भंडारण की व्यवस्था न होने से किसानों को फसल बचाने की कठिन चुनौती का सामना करना पड़ता है। ज्यादातर किसानों को उपज खराब होने के डर से मजबूरी में काफी कम कीमत में अपनी फसल बेचनी पड़ती है। भंडारण की सुविधा बढ़ जाने के बाद किसान अपनी उपज को सुरक्षित रख सकेंगे और बेहतर कीमत मिलने पर बाजार में बेच सकेंगे। सहकारिता विभाग के अपर मुख्य सचिव एम.वी.एस. रामीरेड्डी के मुताबिक इन सभी गोदामों की कुल भंडारण क्षमता करीब 8.60 लाख मीट्रिक टन होगी। ये गोदाम ग्राम पंचायतों और विकास खण्ड स्तर पर बनाए जाएंगे। प्रस्ताव तैयार कर जल्द ही केंद्र सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

आज का इतिहास
आज का इतिहास

नयी दिल्ली, 22 नवंबर ... भारतीय एवं विश्व इतिहास में 23 नवंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं.. 1705 - निकोलस रोवे का प्