लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर
बलात्कार के मामले में तरुण तेजपाल के खिलाफ आरोप तय
शकुंतला विवि में दिव्यांग छात्रों के लिए बढ़ाई गईं सुविधाएं

देश

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

रोप स्किपिंग से अच्छा व्यायाम या खेल कोई नहीं:वत्स

रोप स्किपिंग से अच्छा व्यायाम या खेल कोई नहीं:वत्स

नयी दिल्ली, 08 अप्रैल (वार्ता)  08 Apr 2019      Email  

नयी दिल्ली, 08 अप्रैल  भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कुलदीप वत्स ने कहा है कि शरीर को फिट और स्वस्थ रखने के लिए रोप स्किपिंग से अच्छा व्यायाम या खेल कोई और नहीं है।

वत्स ने रोप स्किपिंग फडरेशन ऑफ़ इंडिया के तत्वाधान में डबल डच इंडिया कॉन्टेस्ट -2019 का उद्घाटन करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि अगर आप अपने शरीर को फिट और स्वस्थ रखना चाहते हैं तो रोप स्किपिंग से अच्छा व्यायाम या खेल कोई और नहीं है। 

उन्होंने कहा, “रोप स्किपिंग यानी रस्सी कूदना का नाम सुनते ही हम सबको अपने अपने बचपन के दिन याद आ जाते है। बचपन में हम सब रस्सी कूदने को केवल एक खेल के रूप में जानते थे। उस वक्त हमें यह नहीं पता था कि जिस रस्सी कूदने को हम केवल खेल समझ रहे हैं वह आगे चल कर हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद हो सकता है।”

वत्स ने कहा, “आज इस खेल को बढ़ाने वाली रोप स्किपिंग फडरेशन ऑफ़ इंडिया को मैं बधाई देता हूं जिसने राष्ट्रीय स्तर पर यह प्रतियोगिता आयोजित की है।” वत्स ने कहा कि 10 मिनट रस्सी कूदना लगभग 45 मिनट दौड़ने के बराबर है। रस्सी कूदने की खास बात यह है कि इसे कभी भी और कहीं भी कर सकते हैं। यात्रा के दौरान भी आप अपनी रस्सी को साथ ले जा सकते हैं। हमने भी दिल्ली में इस खेल को दिल्ली ओलम्पिक एसोसिएशन से मान्यता दी है। 

इस अवसर पर समापन समारोह में महाराजा अग्रसेन इंटरनेशनल अस्पताल रोहिणी के चेयरमैन ज्ञान अग्रवाल ने बच्चों का हौसला बढ़ाते हुए कहा, “आज इस खेल को देखकर मुझे अपना बचपन याद आ गया। भविष्य में रोप स्किपिंग फडरेशन के महासचिव निर्देश शर्मा और मीडिया प्रभारी अशोक कुमार निर्भय मुझे रोप स्किपिंग को बढ़ावा देने के लिए कोई प्रस्ताव देंगे तो हम हर सम्भव मदद फडरेशन और खिलाडियों की करेंगे क्योंकि हमारे देश का भविष्य यही रोप स्किपिंग के खिलाडी बच्चे हैं।”

इस अवसर पर रोप स्किपिंग फडरेशन ऑफ़ इंडिया के महासचिव निर्देश शर्मा ने कहा कि रोप स्किपिंग को बढ़ावा खुद खिलाडी और अभिभावक दे सकते हैं। खेल की रक्षा और बढ़ावा देना हमारा कर्तव्य है। इस मौके पर रोप स्किपिंग फडरेशन ऑफ़ इंडिया की तरफ से मुख्य अतिथि कुलदीप वत्स, ज्ञान अग्रवाल, विनोद गुप्ता, रोप स्किपिंग फडरेशन ऑफ़ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शैलेश शुक्ला, कोषाध्यक्ष तरसेम शर्मा, मीडिया प्रभारी अशोक कुमार निर्भय, कार्यकारिणी सदस्य डॉ पीयूष जैन समेत अनेक खेल, समाजसेवा को समर्पित हस्तियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें