लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी

होम

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

केंद्रीय कर्मचारियों को फेस्टिवल तोहफा, एलटीसी के बदले कैश

केंद्रीय कर्मचारियों को फेस्टिवल तोहफा, एलटीसी के बदले कैश

नई दिल्ली (एजेंसियां)।   13 Oct 2020      Email  

कोरोना संकट में देश की इकोनॉमी में नई जान फूंकने और डिमांड बढ़ाने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कुछ बड़े ऐलान किए हैं। वित्त मंत्री ने देश में डिमांड बढ़ाने के लिए तीन मुख्य कदमों का प्रस्ताव किया है। इसमें केंद्रीय कर्मचारियों के एलटीसी से लेकर एडवांस स्कीम तक शामिल है। आइए इन्हें एक-एक कर समझते हैं। इस कैश वाउचर्स से केंद्रीय कर्मचारी को कोई भी सामान खरीदने या सर्विस के लिए कर सकता है। लेकिन उसे एलटीसी की रकम का तीन गुना खर्च करना होगा। कर्मचारी को वो ही सामान खरीदने होंगे, जिन पर 12 परसेंट या इसके ऊपर जीएसटी लगता हो। सामान सिर्फ  जीएसटी रजिस्टर्ड वेंडर्स से ही लेना होगा। कर्मचारी ने जहां खर्च किया है, उसकी इनवॉयस भी दिखानी होगी, तभी उसे छूट मिलेगी। इसके अलावा केंद्रीय कर्मचारियों को मिलने वाली 10 दिन के लीव इनकैशमेंट को भी खर्च करना होगा। ये सारे खर्चे उसे 31 मार्च 2021 तक करने होंगे। ये सभी खर्चे और खरीद का पेमेंट डिजिटल मोड में ही होना चाहिए। आपको बता दें कि केंद्रीय कर्मचारियों को हर चार साल में अपनी पसंद की एक यात्रा और एक बार अपने होमटाउन जाने के लिए एलटीसी मिलता है। लेकिन कोरोना संकट की वजह से वो इस बार कहीं नहीं जा सके तो सरकार अब किराए को कैश वाउचर्स के रूप में कर्मचारियों को देगी, जिसे उन्हें 31 मार्च 2021 तक खर्च करना है। सरकार को उम्मीद है कि इससे देश में खर्च बढ़ेगा। इस स्कीम से केंद्रीय कर्मचारियों पर 5675 करोड़ रुपये मिलेंगे। अगर सरकारी कंपनियां और सरकारी बैंक भी इसे लागू करती हैं तो 1900 करोड़ रुपये और मिलेंगे। अगर राज्य सरकारें और प्राइवेट सेक्टर भी केंद्र की इस बात को मानते हैं तो 19000 करोड़ रुपये की डिमांड पैदा होगी। सरकार डिमांड बढ़ाने के लिए त्योहारों के सीजन को भुनाना चाहती है।
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने काह कि जब सातवां वेतन आयोग आया था, तबक एडवांस का प्रावधान नहीं था, इसके लिए एडवांस स्कीम चलती थी। सरकार एक बार फिर स्पेशल फेस्टिवल एडवांस स्कीम लेकर आई है। इस स्कीम के जरिए हर केंद्रीय कर्मचारी को 10000 रुपये एडवांस देने का प्रावधान किया गया है। ये इंटरेस्ट फ्री एडवांस होगा, जिसे 10 किश्तों में चुकाया जा सकेगा। ये एडवांस रूपे डेबिट कार्ड में प्री-लोडेड होगा। ये वन टाइम एडवांस स्कीम होगी, जो सिर्फ  इस फेस्टिव सीजन के लिए शुरू होगी। केंद्र सरकार राज्यों को 12000 करोड़ रुपये का लोन देगी। ये लोन 50 साल के लिए दिया जाएगा, जो पूरी तरह से ब्याजमुक्त होगा। राज्यों को ये कर्ज उनके प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए दिया जाएगा ताकि इकोनॉमी को थोड़ी रफ्तार मिल सके। इस रकम में से 1600 करोड़ रुपये नॉर्थ-ईस्ट राज्यों को दिया जाएगा, 900 करोड़ उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश को मिलेगा। बाकी 7500 करोड़ रुपये दूसरे राज्यों को दिया जाएगा। 2000 करोड़ रुपये उन राज्यों को दिए जाएंगे जो पहले दिए गए रिफॉर्म्स को पूरा करते हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस रकम को नए या चल रहे प्रोजेक्ट्स पर खर्च करना होगा। इस कर्ज से राज्य कॉन्ट्रैक्टर्स और सप्लायर्स के बिल का निपटारा कर सकते हैं, लेकिन पूरी रकम 31 मार्च 2021 तक खर्च करनी होगी। ये लोन अभी राज्यों की उधार लेने की सीमा के ऊपर होगा। यानी उन्हें जितना लोन मिलता है, उसके ऊपर ये लोन दिया जाएगा। इस लोन को 50 साल बाद चुकाना होगा।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

फारूक अब्दुल्ला पीएजीडी के अध्यक्ष व महबूबा मुफ्ती उपाध्यक्ष चुनी गईं
फारूक अब्दुल्ला पीएजीडी के अध्यक्ष व महबूबा मुफ्ती उपाध्यक्ष चुनी गईं

नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला को हाल में गठित गुपकर घोषणापत्र गठबंधन (पीएजीडी) का शनिवार को सर्वसम्मति से अ

प्रधानमंत्री 27 अक्टूबर को तीन लाख से अधिक रेहड़ी व पटरी दुकानदारों को वितरित करेंगे ऋण
प्रधानमंत्री 27 अक्टूबर को तीन लाख से अधिक रेहड़ी व पटरी दुकानदारों को वितरित करेंगे ऋण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश द्वारा देश में सर्वाधिक 3,46,150 ऋण आव