लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर

होम

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

छत पर करें बागवानी, पायें ताजी सब्जियां, स्वच्छ हवा

छत पर करें बागवानी, पायें ताजी सब्जियां, स्वच्छ हवा

लखनऊ 29 सितम्बर (वार्ता)  29 Sep 2019      Email  

लखनऊ 29 सितम्बर  वैज्ञानिकों का कहना है कि शहरों में रहने वाले लाेग अपने घरों की छतों पर बागवानी कर न केवल रसायन मुक्त फल और सब्जियां प्राप्त कर सकते हैं बल्कि वायु प्रदूषण को कम करने में भी योगदान दे सकते हैं।

केन्द्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान के प्रधान वैज्ञानिक और कंटेनर गार्डनिंग परियोजना के प्रमुख के. के. श्रीवास्तव के अनुसार घरों की छतों पर कंटेनर में चुनिन्दा किस्म के फलों और सब्जियों की पैदावार आसानी से ली जा सकती है। खट्टे फलों, अमरूद, अनार, करौंदा आदि को कंटेनरों में लगाकर घरेलू जरूरतों को पूरा किया जा सकता है और प्रदूषण की समस्या पर भी कुछ हद तक नियंत्रण पाया जा सकता है।

कंटेनर गार्डनिंग के फायदों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि लखनऊ लगभग 366 वर्ग किलोमीटर के दायरे में फैला हुआ है। छतों का यदि 20 प्रतिशत हिस्सा भी रूफ टॉप गार्डनिंग के लिए प्रयोग किया जाय तो लगभग 60 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र फल एवं सब्जियाँ लगाने के लिए उपलब्घ होगा जिसमें लाखों की संख्या में पौधों को लगाया जा सकता है। इसका उपयोग कर शारीरिक पोषण जरूरतों को भी पूरा किया जा सकता है।

डा़ श्रीवास्तव ने बताया कि प्रयोग में देखा गया है कि नींबू का एक वर्ष का पौधा 15 से 35 और दूसरे वर्ष में 50 से 60 नींबू का फल देता है। कंटेनरों को घरों की छतों के अलावा बालकनी, खिड़कियों के निकट और खुले स्थानों पर रखा जा सकता है जहां पर्याप्त मात्रा में सूरज का प्रकाश मिलता हो।

उन्होंने कहा कि लखनऊ में अभी इसका प्रचलन नहीं के बराबर है। कंटेनर में फलों की पैदावार लेने के लिए फल, सब्जियों की खास किस्मों चयन की आवश्यकता है जो आसानी से विकसित हो सके। इसके लिए बड़े कंटेनर, सिमेंट के पात्र या पॉलीथीन के बड़े बैग का उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए विशेष तकनीक का उपयोग कर ऐसे किस्मों के पौधों का चयन किया जाता है जो बौने किस्म के हों और जल्दी फल दे सके। कंटेनर में फलों की पैदावार लेना विज्ञान और कला दोनों है। रुप टॉप गाडर्निंग से हवा शुद्ध होती है, वायु की गुणवत्ता बढती है और सबसे बड़ी बात यह है कि इससे छतों का तापमान कम होता है। दुनिया के बड़े बड़े शहरों में ग्रीन रुफ टाप फैशन हो गया है।

कृषि के छात्रों को स्व उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए केन्द्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान ने हाल में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जिसमें उत्तर प्रदेश के नरेन्द्र देव कृषि विश्वविद्यालय अयोध्या, बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय झॉसी, बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर केन्द्रीय विश्व विद्यालय, लखनऊ एवं चन्द्रशेखर आजाद, कृषि विश्वविद्यालय, कानपुर के शोध छात्रों, लखनऊ शहरवासियों, विश्वविद्यालय के डीन, प्रोफेसर, एवं सहायक प्राध्यापक के अलावा काफी संख्या में कृषि विज्ञान केन्द्र के विशेषज्ञ एवं उद्यमियों ने भाग लिया।

उत्तर प्रदेश विज्ञान एवं तकनीकी परिषद के संयुक्त निदेशक डा. डी. के. श्रीवास्तव ने कहा कि परिषद शहरवासियों को घर की छतों पर रूफ टॉप गार्डनिग के लिए प्रोत्साहित करेगा। संस्थान के निदेशक शैलेन्द्र राजन ने बताया कि रुफ टॉप गार्डनिंग की तकनीक के लिए संस्थाओं तथा व्यक्तिगत आधार पर संस्थान से संपर्क किया जा रहा है। इस तरह की बागवानी के लिए संस्थान के पास तकनीक उपलब्ध है।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

देश का पानी अब पाकिस्तान नहीं जाएगा, पांच साल कांग्रेस के पुराने गड्ढे भरने में निकले: मोदी
देश का पानी अब पाकिस्तान नहीं जाएगा, पांच साल कांग्रेस के पुराने गड्ढे भरने में निकले: मोदी

गोहाना/हिसार, 18 अक्तूबर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर आज बड़ा हमला बोलते हुये कहा कि उसने देश में

रुपया दो पैसे चढ़ा
रुपया दो पैसे चढ़ा

मुंबई 18 अक्टूबर  दुनिया की प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के कमजाेर पड़ने और घरेलू स्तर पर शेयर बाजार में तेजी