लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर

होम

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

मोदी यूएई के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित

मोदी यूएई के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित

अबुधाबी (भाषा)।   25 Aug 2019      Email  

प्रधानमंत्री ने सम्मान को 1.3 अरब भारतीयों के कौशल और क्षमताओं को समर्पित किया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत एवं संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका के निभाने लिए शनिवार को इस देश के सर्वाेच्च नागरिक सम्मान ऑर्डर ऑफ जाएद से सम्मानित किया गया। इससे पहले विश्व के कई नेता इस सम्मान से नवाजे जा चुके हैं, जिनमें रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय एवं चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग शामिल हैं। इस सम्मान के लिए मोदी ने यूएई सरकार का शुक्रिया अदा किया और इस सम्मान को 1.3 अरब भारतीयों के कौशल और क्षमताओं को समर्पित किया। अबुधाबी में राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में मोदी को अबु धाबी के इस सम्मान से नवाजा गया। इस पुरस्कार का नामकरण यूएई के संस्थापक शेख जाएद बिन सुल्तान अल नहयान के नाम पर किया गया है। बाद में मोदी ने ट्वीट किया कि कुछ समय पहले ऑर्डर ऑफ जाएद से सम्मानित होने पर कृतज्ञ हूं। यह पुरस्कार एक व्यक्ति को नहीं बल्कि भारत की सांस्कृतिक परंपरा और 130 करोड़ भारतीयों को समर्पित है। इस सम्मान के लिए मैं यूएई सरकार का शुक्रिया अदा करता हूं। मोदी की यूएई की यात्रा से पहले विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा था कि इस पुरस्कार का नामकरण यूएई के संस्थापक शेख जाएद बिन सुल्तान अल नहयान के नाम पर किया गया है। इसका विशेष महत्व है क्योंकि शेख जाएद के जन्मशती वर्ष में प्रधानमंत्री मोदी को यह सम्मान दिया जाने वाला है। इसमें कहा गया कि भारत और यूएई के बीच मजबूत, करीबी और बहुआयामी संबंध रहा है जो सांस्कृतिक, धार्मिक और आर्थिक सूत्रों भी जुड़ा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इससे पहले अगस्त 2015 में यूएई की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच व्यापक सामरिक भागीदारी भी बढ़ी। यूएई ने अप्रैल में मोदी को देश के सर्वाेच्च सम्मान से नवाजे जाने की घोषणा की थी। अबुधाबी के वली अहद शहजादा मोहम्मद बिन जाएद अल नहयान ने अप्रैल में एक ट्वीट कर बताया कि भारत के साथ हमारे ऐतिहासिक और व्यापक सामरिक संबंध रहे हैं, जिसमें मेरे अभिन्न मित्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने इन संबंधों में और प्रगाढ़ता लाने का काम किया। दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अबुधाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान से भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच व्यापार और सांस्कृतिक संबंधों को सुधारने के तरीकों पर शनिवार को चर्चा की। मोदी का स्वागत करते हुए वली अहद नाहयान ने अपने भाई का अपने दूसरे घर आने के लिए आभार जताया। बैठक के बाद मोदी ने ट्वीट किया कि शाहजादे मोहम्मद बिन जायद के साथ बैठक शानदार रही। हमने भारत और यूएई के बीच व्यापार और दोनों देशों के लोगों के बीच संबंधों को सुधारने सहित कई विषयों पर बातचीत की। प्रधानमंत्री ने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने की शाहजादे की व्यक्तिगत प्रतिबद्धता काफी मजबूत है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच संबंध में नई ऊर्जा देखने को मिली। कुमार ने शहजादे के हवाले से कहा कि मैं शुक्रगुजार हूं कि मेरा भाई अपने दूसरे घर आया है। द्विपक्षीय निवेशों के मजबूत प्रवाह और करीब 60 अरब डॉलर के वार्षिक द्विपक्षीय व्यापार के साथ यूएई भारत का तीसरा सबसे बड़ा व्यापार साझेदार है। वह भारत के लिए कच्चे तेल का चौथा सबसे बड़ा निर्यातक है। यूएई की आधिकारिक संवाद समिति डब्लूएएम को दिए साक्षात्कार में मोदी ने कहा कि भारत को यूएई के रूप में एक बहुमूल्य साझीदार मिला है जिससे 2024-25 तक पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का महत्वाकांक्षी लक्ष्य हासिल किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि यूएई- भारत के बीच संबंध अभी तक की सबसे अच्छी स्थिति में है और भारत के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में यूएई का निवेश बढ़ रहा है। मोदी ने कहा कि भारत में नवीकरणीय ऊर्जा, खाद्य, बंदरगाह, हवाई अड्डे, रक्षा निर्माण और अन्य क्षेत्रों में निवेश की रूचि बढ़ रही है। ढांचागत क्षेत्रों और आवास के क्षेत्र में यूएई के निवेश में बढ़ोतरी हो रही है। उन्होंने कहा कि यूएई द्वारा भारत में 75 अरब डॉलर के निवेश का लक्ष्य हासिल करने के लिए दोनों देश मिल-जुलकर काम कर रहे हैं। दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बाजार में रूपे कार्ड की पेशकश की। इससे यहां की बहुत सी दुकानों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में भी भारत के डिजिटल भुगतान कार्ड से खरीद की जा सकती है। संयुक्त अरब अमीरात पश्चिम एशिया का पहला देश बन गया जिसने इलेक्ट्रॉनिक भुगतान की भारतीय प्रणाली को अपनाया है। मोदी ने यहां रूपे कार्ड से एक विशेष खरीदारी कर के यहां के बाजार में इस कार्ड के चलन की शुरुआत की। वह इस खरीदी गई सामग्री को रविवार को बहरीन में श्रीनाथजी मंदिर में प्रसाद के रूप में चढ़ाएंगे। रूपे कार्ड की शुरुआत से पहले मोदी की उपस्थिति में भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम ने संयुक्त अरब अमीरात के मरक्यूरी पेमेंट्स सर्विसेज के साथ दोनों देशों के भुगतान मंचों के बीच तकनीकी इंटरफेस तैयार करने के समझौते पर हस्ताक्षर किए। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अबुधाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में शनिवार को उन पर डाक टिकट जारी किए। ये डाक टिकट प्रधानमंत्री मोदी के दौरे के दौरान अबुधाबी में राष्ट्रपति भवन में जारी किए गए।



Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

छात्रा के खिलाफ भी मामला दर्ज
छात्रा के खिलाफ भी मामला दर्ज

स्वामी चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने का मामला पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी के बीच विशेष

जलभराव प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं पुनर्वास कार्य तेजी से हों-मिश्र
जलभराव प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं पुनर्वास कार्य तेजी से हों-मिश्र

कोटा, 21 सितम्बर  राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने शनिवार को कोटा संभाग में हवाई निरीक्षण करके बाढ़ से प्रभावित