लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी

होम

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

विस्तारवाद का युग खत्म दुनिया इसके खिलाफ

विस्तारवाद का युग खत्म दुनिया इसके खिलाफ

लेह (एजेंसियां)।   04 Jul 2020      Email  

प्रधानमंत्री मोदी जवानों के बीच पहुंचे लेह, दिया सख्त संदेश 
चीन को कठोर संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि विस्तारवाद का युग समाप्त हो चुका है तथा पूरे विश्व ने इसके खिलाफ मन बना लिया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय सेना ने शत्रुओं को जो पराक्रम और प्रचंडता दिखाई, उससे दुनिया को देश की ताकत का संदेश मिल गया। भारत चीन की सेनाओं के बीच लद्दाख के सीमावर्ती क्षेत्रों में चल रहे तनाव के बीच प्रधानमंत्री ने आज यहां अचानक दौरा किया और सैनिकों को संबोधित भी किया। प्रधानमंत्री के साथ प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल विपिन रावत और थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे भी थे। मोदी ने भारत और चीन के सैनिकों के बीच गलवान घाटी में पिछले दिनों हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए 20 भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने सैनिकों को संबोधित करते हुए लद्दाख क्षेत्र को 130 करोड़ भारतीयों के मान-सम्मान का प्रतीक करार दिया। लद्दाख के कई क्षेत्रों में पिछले सात सप्ताह से भारतीय और चीनी सेना के बीच सीमा को लेकर चल रहे गतिरोध के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने आज यहां के निमू का औचक दौरा किया। निमू वो जगह है जो जंस्कार की पहाडç¸यों से घिरी हुई है और सिन्धु नदी के तट पर स्थित है। प्रधानमंत्री ने वहां भारतीय सेना के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात और बाद में थलसेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों का मनोबल बढ़ाते हुए उन्हें संबोधित किया। उन्होंने कहा, विस्तारवाद का युग समाप्त हो चुका है। यह युग विकासवाद का है। प्रधानमंत्री ने कहा कि बीती शताब्दियों में विस्तारवाद ने ही मानवता का सबसे ज्यादा अहित किया और मानवता के विनाश का प्रयास किया। उन्होंने कहा, विस्तारवाद की जिद किसी पर सवार हो जाती है तो उसने हमेशा विश्व शांति के सामने खतरा पैदा किया है। और यह न भूलें इतिहास गवाह है। ऐसी ताकतें मिट गई हैं या मुड़ने को मजबूर हो गई है। मोदी ने कहा, विश्व का हमेशा यही अनुभव रहा है और इसी अनुभव के आधार पर अब इस बार फिर से पूरे विश्व ने विस्तारवाद के खिलाफ मन बना लिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत शांति और मित्रता के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन शांति के लिए इस प्रतिबद्धता को भारत की कमजोरी के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। उन्होंने अपने संबोधन में यह भी कहा, कमजोर कभी शांति की पहल नहीं कर सकता और वीरता ही शांति की पूर्व शर्त होती है। प्रधानमंत्री ने कहा, लद्दाख का ये पूरा हिस्सा, भारत का मस्तक है। 130 करोड़ भारतीयों के मान सम्मान का प्रतीक है। यह भूमि भारत के लिए सर्वस्व त्याग करने के लिए हमेशा तैयार रहने वाले राष्ट्रभक्तों की धरती है। उन्होंने गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प का जिक्र करते हुए कहा, आपने और आपके साथियों ने जो वीरता दिखाई है, उसने पूरी दुनिया में यह संदेश दिया है कि भारत की ताकत क्या है। उन्होंने कहा, देश के वीर सपूतों ने गलवान घाटी में जो अदम्य साहस दिखाया है वह पराक्रम की पराकाष्ठा है। देश को आप पर गर्व है, नाज है। उल्लेखनीय है भारत और चीन के सैनिकों के बीच गलवान घाटी में 15 जून को हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। अनुमान है इसमें चीन के भी कई सैनिक हताहत हुए किंतु इस बारे में चीन की ओर से आधिकारिक रूप से कुछ भी नहीं कहा गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि चाहे लेह-लद्दाख, कारगिल या सियाचिन ग्लेशियर हो, चाहे उंचे पहाड़ हों या नदियों में बहने वाला बर्फीला ठंडा पानी, ये सब भारत के सशस्त्र बलों की वीरता के प्रमाण हैं। उन्होंने कहा, भारत के दुश्मनों ने हमारी सेना की शक्ति और उसकी प्रचंडता देखी है। सिंधु नदी के तट पर 11,000 फुट की ऊंचाई पर स्थित निमू सबसे दुर्गम स्थानों में से एक है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत आज हर क्षेत्र में अपनी ताकत बढ़ा रहा है, आधुनिक अस्त्र-शस्त्र का निर्माण कर रहा है और अत्याधुनिक तकनीक से यदि अपनी सेनाओं को सुसज्जित कर है तो इसके पीछे उसका एकमात्र उद्देश्य मानव कल्याण और विश्व शांति है। प्रधानमंत्री कहा, हम वह लोग हैं जो बांसुरीधारी कृष्ण की पूजा करते हैं, हम वे लोग हैं जो सुदर्शन चक्रधारी से प्रेरणा लेते हैं। उन्होंने कहा कि हर आक्रमण के बाद भारत और सशक्त होकर उभरा है। दुनिया की और मानवता की प्रगति के लिए शांति और मित्रता हर कोई स्वीकार करता है। हर कोई मानता है कि यह जरूरी है। 



Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

बागपत में भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, थाना प्रभारी निलंबित
बागपत में भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, थाना प्रभारी निलंबित

बागपत/लखनऊ,12 अगस्त (डीएनएन)। यूपी के बागपत में हमलावरों ने भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष संजय खोखर की म