लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर
बलात्कार के मामले में तरुण तेजपाल के खिलाफ आरोप तय

स्थानीय

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

आबकारी दरोगा व दो मुख्य आरोपी गिरफ्तार

आबकारी दरोगा व दो मुख्य आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ (डीएनएन)।   30 May 2019      Email  

बाराबंकी में जहरीली शराब ने ली अब तक 22 लोगों की जान
बाराबंकी के रामनगर थानाक्षेत्र रानीगंज में जहरीली देशी शराब पीने से अब तक 22 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कई लोगों की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। बुधवार की सुबह ही शराबकांड में रामनगर पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान 20हजार रुपए के इनामी पप्पू जायसवाल को एक कथित मुठभेड़ में धर दबोचा है। मुठभेड़ के दौरान पप्पू के पैर में गोली लगी है। जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पप्पू व सेल्समैन सुनील से पूछताछ के बाद बाराबंकी पुलिस को शराबकांड को लेकर कई अहम जानकारी हाथ लगी है। देर शाम तक पुलिस की कई टीमों ने छापेमारी कर सरकारी ठेके के लाइसेंसी दानवीर और इलाके के आबकारी उपनिरीक्षक राम तीरथ मौर्य को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। फिलहाल रानीगंज व अन्य गांव में बुधवार को भी कई लोगों के शव पहुंचे। चारों तरफ चीख-पुकार मची हुई थी। माहौल को देखते हुए इलाके में पीएसी व स्थानीय पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। माना जा रहा है कि इस मामले में जल्द ही आबकारी विभाग के कई अन्य अफसरों व कर्मचारियों पर कार्रवाई हो सकती है।
रानगर के रानीगंज स्थित देशी शराब के ठेके से खरीदी गई शराब पीने से अब भी करीब 45 से अधिक लोग राजधानी व फतेहपुर के अस्पतालों में जिदंगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे है। करीब एक दर्जन से अधिक लोगों की सेहत में सुधार हो रहा है लेकिन उनकी आंखों की रोशनी चली गई है। बुधवार की दोपहर तक छह और लोगों की मौत हो गई है, जिसमें ओमकर 40 निवासी महार, विजय 35, माधवराम 50 समेत अन्य लोग शामिल है। फिलहाल पुलिस ने शवों का पंचनामा कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। इस मामले में मुख्यमंत्री की सख्ती के बाद बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अजय साहनी ने कई टीमें गठित कर आरोपियों की धरपकड़ के लिए लगा दिया था। इसी बीच बुधवार की सुबह रानीगंज में ही एक आरोपी पप्पू जायसवाल से पुलिस की मुठभेड़ हो गई। पुलिस की तरफ से हुई फायरिंग में गोली लगने से पप्पू जायसवाल घायल हो गया। जिसके बाद पुलिस ने उसे कब्जे में कर जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। इससे पहले सेल्समैन सुनील को पुलिस ने मंगलवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस अफसरों व जांच के लिए गठित की गई समिति ने दोनों गिरफ्तार अभियुक्तों से कई घंटे तक पूछताछ की। जिसमें खुलासा हुआ कि रानीगंज शराब कांड में आबकारी विभाग में जंगलराज फैला हुआ है। शराब कांड का मुख्य आरोपी आबकारी विभाग के दारोगा का करीबी निकला। पूछताछ में आबकारी विभाग के गड़बड़झाले की परते खुलने लगी है। वहीं मुठभेड़ में पकड़ा गया पप्पू जायसवाल आबकारी विभाग के दारोगा हरिकेश शुक्ला का करीबी बताया जा रहा है। हरकेश शुक्ला की सरपरस्ती में ही सरकारी ठेके से कच्ची शराब बेची जा रही थी। हरकेश शुक्ला के बारे में जानकारी करने पर खुलासा हुआ कि 37 सालों से बाराबंकी में ही तैनात है। स्थानान्तरण होने के बाद भी वह संबद्घता कराकर बाराबंकी में डटा रहा। इसी बीच टीमों ने शराबकांड के आरोपी व शराब ठेके के लाइसेंसी बहराइच निवासी दानवीर सिंह और आबकारी विभाग के उपनिरीक्षक को गिरफ्तार कर लिया है। छानबीन व कॉल डिटेल से पुलिस को जानकारी मिली कि गिरफ्तार किए गए पप्पू जायसवाल व अन्य आरोपियों से आबकारी विभाग के उपनिरीक्षक राम तीरथ लगातार बात कर रहे थे। घटना से पहले और घटना के बाद कॉल डिटेल में प्रकरण में मिलीभगत का खुलासा हुआ है। उल्लेखनीय है कि रामनगर के रानीगंज समेत करीब 17 गांव के दर्जनों लोग जहरीली शराब के चपेट में आ गए है। इस मामले में मुख्यमंत्री की सख्ती के बाद रामनगर सीओ समेत अब तक 15 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है। जहरीली शराब के कहर से अब तक दर्जनों परिवार तबह हो चुके है। लोगों में शराब को लेकर काफी गुस्सा देखा जा रहा है। इसके अलावा पुलिस अफसर भी लगातार रानीगंज समेत अन्य गांव में जाकर पीड़ित परिवार से मिल रहे है। इस मामले में डीजीपी मुख्यालय द्वारा लगातार निगरानी की जा रही है। आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के बाद अब रासुका के तहत कार्रवाई की जा रही है।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

रुपया 21 पैसे उछला
रुपया 21 पैसे उछला

मुंबई 26 जून  दुनिया की प्रमुख मुद्राओं के बॉस्केट में अमेरिकी मुद्रा के कमजोर पड़ने से बुधवार को अंतरबैंकिंग मुद्र