लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी

स्थानीय

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

25 लाख से कम आबादी वाले जिलों को तीन करोड़, 25 लाख से अधिक आबादी वाले जिलों को मिलेंगे पांच करोड़ रुपए

25 लाख से कम आबादी वाले जिलों को तीन करोड़, 25 लाख से अधिक आबादी वाले जिलों को मिलेंगे पांच करोड़ रुपए

लखनऊ (डीएनएन)।   31 Jul 2020      Email  

कोरोना मरीजों को सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने का मुख्यमंत्री ने दिया निर्देश
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 से संक्रमित मरीजों को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके लिए धन की कमी नहीं होनी चाहिए।  योगी ने गुरुवार को अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों को सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए और इसके लिए धन की कमी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए जिलों को अतिरिक्त धनराशि उपलब्ध करायी जाय। 25 लाख से कम जनसंख्या वाले जिलों को तीन करोड़ रुपए तथा 25 लाख से अधिक आबादी वाले जिलों को पांच करोड़ रुपए उपलब्ध कराए जाएं। उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर कोविड-19 की उपचार व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए इस धनराशि का व्यय जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी की कमेटी की संस्तुति पर किया जाए। कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति को कोविड चिकित्सालय में बेड उपलब्ध होना चाहिए। उन्होंने कहा कि एल-2 तथा एल-3 कोविड अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बेड की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। सभी कोविड अस्पतालों में सीनियर डॉक्टरों द्वारा राउंड लिया जाए। कोविड चिकित्सालयों में ऑक्सीजन समेत सभी बुनियादी सुविधाओं के साथ-साथ अस्पताल की श्रेणी के आधार पर वेंटिलेटर की भी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। होम आइसोलेशन के मरीजों की मॉनीटरिंग के लिए तकनीक का उपयोग किया जाए। योगी ने कहा कि मेडिकल टेस्टिंग में और वृद्धि की जाय। प्रतिदिन एक लाख से अधिक टेस्ट निरंतर किए जाएं। आरटीपीसीआर से 40 हजार टेस्ट तथा रैपिड एंटीजन टेस्ट विधि से 65 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं। उन्होंने एसजीपीजीआई के  निदेशक को कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज, बरेली, झांसी तथा गोरखपुर के मेडिकल कॉलेजों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन जिलों में कोविड-19 की उपचार व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम के भ्रमण के दौरान संबंधित जिलों के जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल, सीनियर फैकल्टी, कोविड अस्पतालों के प्रभारी डिप्टी सीएमओ तथा वेंटिलेटर संचालक उपस्थित रहेंगे। उन्होंने लखनऊ में आवश्यक समन्वय सुनिश्चित करने के लिए एक टीम के गठन के भी निर्देश दिए हैं। यह कोविड चिकित्सालयों का भ्रमण कर इन अस्पतालों की चिकित्सा व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त करेगी तथा आवश्यकतानुसार अन्य प्रबंध भी सुनिश्चित कराएगी। उन्होंने महानिदेशक स्वास्थ्य को प्रत्येक कोविड अस्पताल के प्रभारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी से एवं महानिदेशक, चिकित्सा शिक्षा को प्रत्येक मेडिकल कॉलेजों के प्रिंसिपल से निरंतर संवाद बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कांटेक्ट ट्रेसिंग, डोर टू डोर सर्वे कार्य तथा कोविड संक्रमण की दृष्टि से संदिग्ध लक्षणों वाले व्यक्तियों के एंटीजेन टेस्ट की व्यवस्था का प्रभावी संचालन जारी रखा जाए। प्रत्येक जिले में एल-2 कोविड अस्पताल स्थापित किया जाए। इस कार्य के लिए एक नोडल अधिकारी नामित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘108’ एंबुलेंस सेवा की 50 प्रतिशत एंबुलेंस कोविड मरीजों के लिए तथा शेष 50 प्रतिशत नॉन-कोविड मरीेजों के लिए उपयोग की जाएं। उन्होंने स्पष्ट किया कि कोविड कार्य में लगी एंबुलेंस को कोविड प्रकरणों में ही इस्तेमाल किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि एंबुलेंस कर्मियों को वेतन, मास्क, ग्लव्स आदि की समस्या नहीं आनी चाहिए। उन्होंने सर्विलांस कार्य के लिए आवश्यकतानुसार वाहनों की व्यवस्था किए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई तथा किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) में भर्ती कोविड मरीजों के लिए कुछ प्राईवेट रूम्स की भी व्यवस्था की जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि इन दोनों चिकित्सा संस्थानों में कोविड-19 के उपचार के लिए कन्फर्म्ड कोविड रोगी ही सन्दर्भित किए जाएं। उन्होंने कहा कि एसजीपीजीआई, केजीएमयू तथा डॉ. राम मनोहर लोहिया चिकित्सा संस्थान में भर्ती कोविड रोगियों में से जिन्हें डायलिसिस की आवश्यकता हो उन्हें यह सुविधा उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने बीआरडी मेडिकल कॉलेज, गोरखपुर के बाल रोग चिकित्सा संस्थान को 15 अगस्त तक प्रत्येक दशा में तैयार करने के निर्देश दिए।



Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

बागपत में भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, थाना प्रभारी निलंबित
बागपत में भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, थाना प्रभारी निलंबित

बागपत/लखनऊ,12 अगस्त (डीएनएन)। यूपी के बागपत में हमलावरों ने भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष संजय खोखर की म