लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर

देश

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

25 करोड़ रुपये के कारोबार वाले स्टार्टअप को मिलेगी आयकर छूट: सीबीडीटी

25 करोड़ रुपये के कारोबार वाले स्टार्टअप को मिलेगी आयकर छूट: सीबीडीटी

नयी दिल्ली 22 अगस्त (वार्ता)  22 Aug 2019      Email  

नयी दिल्ली 22 अगस्त  केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने गुरूवार को स्पष्ट किया कि 25 करोड़ रुपये के कारोबार वाले छोटे स्टार्टअप को शुरूआत से सात वर्षाें तक में से तीन वर्ष की आय शत प्रतिशत कर मुक्त होगी। 

सीबीडीटी ने यहां जारी स्पष्टीकरण में कहा कि इसके दायरे में आने वाले स्टार्टअप को वायदे के अनुरूप आयकर कानून 1961 की धारा 80 आईएसी के तहत कर में छूट मिलेगी। इसमें स्टार्टअप को शुरूआत के सात वर्षाें में तीन वर्षाें की आय शत प्रतिशत कर मुक्त होगी। 

उसने कहा कि डीपीआईआईटी द्वारा मान्यता प्राप्त सभी स्टार्टअप कर में इस छूट के लिए स्वत: योग्य नहीं होगे। जाे स्टार्टअप आयकर कानून की धारा 80 आईएसी के शर्ताें को पूरा करेंगे वे ही छूट का दावा कर सकते हैं। इसके मद्देनजर स्टार्टअप के कारोबार की सीमा आयकर कानून की धारा के अनुरूप तय होगी न कि डीपीआईआईटी की अधिसूचना के अनुरूप। 

उसने कहा कि 19 फरवरी 2019 को डीपीआईआईटी द्वारा जारी अधिसूचना और आयकर कानून में उल्लेखित सीमा में कोई अंतर नहीं है। दोनों में यह सीमा 25 करोड़ रुपये ही है।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

छात्रा के खिलाफ भी मामला दर्ज
छात्रा के खिलाफ भी मामला दर्ज

स्वामी चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने का मामला पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी के बीच विशेष

जलभराव प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं पुनर्वास कार्य तेजी से हों-मिश्र
जलभराव प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं पुनर्वास कार्य तेजी से हों-मिश्र

कोटा, 21 सितम्बर  राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने शनिवार को कोटा संभाग में हवाई निरीक्षण करके बाढ़ से प्रभावित