लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर

देश

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

सरकारी खरीद के बकाये का त्योहार से पहले हो भुगतान : सीतारमण

सरकारी खरीद के बकाये का त्योहार से पहले हो भुगतान : सीतारमण

नयी दिल्ली 27 सितंबर  27 Sep 2019      Email  

नयी दिल्ली 27 सितंबर  वित्त एवं कंपनी मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्थव्यवस्था को गति देने और निवेश में तेजी लाने के उद्देश्य से सभी मंत्रालयों को निर्धारित समय पर पूँजीगत व्यय सुनिश्चित करने तथा सरकारी खरीद के बकाये का त्योहार से पहले भुगतान करने के लिए कहा है।

श्रीमती सीतारमण ने इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े प्रमुख मंत्रालयों के सचिवों और वित्तीय सलाहकारों के साथ पूँजीगत व्यय की समीक्षा बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकारी खरीद का करीब 60 हजार करोड़ रुपये का बकाया था जिसमें से 40 हजार करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है और शेष बकाये का भी अक्टूबर के पहले सप्ताह में भुगतान कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि सभी मंत्रालयों को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम स्तर के उद्याेगों का बकाया भुगतान शीघ्र से शीघ्र करने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि गत 23 अगस्त को की गयी घोषणा के बाद से खरीदारी के बकाये के भुगतान में तेजी आयी है।

उन्होंने बताया कि चालू वित्त वर्ष में कुल पूँजीगत व्यय लगभग 11 लाख करोड़ रुपये है। सरकार के राजस्व और पूँजीगत व्यय से माँग बढ़ाने में मदद मिलती है। उन्होंने कहा कि सरकार का पूँजीगत व्यय 3.38 लाख करोड़ रुपये है जबकि शेष पूँजीगत व्यय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और अन्य एजेंसियों द्वारा किया जाना है।

उन्होंने कहा कि 3.38 लाख करोड़ रुपये के पूँजीगत व्यय के अतिरिक्त पूँजीगत संपदा निर्माण के लिए 2.07 लाख करोड़ रुपये का अनुदान भी दिया गया है। कुल मिलाकर इस मदद में 5.45 लाख करोड़ रुपये का पूँजीगत व्यय होना है। इसमें से अगस्त तक 4़0 प्रतिशत से अधिक राशि का व्यय हो चुका है।

व्यय सचिव जी.सी. मुर्मू ने बताया कि सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों ने पिछले तीन महीने में 20,157 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। उन्होंने कहा कि उनका विभाग बड़ी इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं की प्रगति पर लगातार नजर रखे हुये और इसको लेकर मंत्रालयों के साथ ही सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के साथ ही बैठकें लगातार की जा रही है।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

देश का पानी अब पाकिस्तान नहीं जाएगा, पांच साल कांग्रेस के पुराने गड्ढे भरने में निकले: मोदी
देश का पानी अब पाकिस्तान नहीं जाएगा, पांच साल कांग्रेस के पुराने गड्ढे भरने में निकले: मोदी

गोहाना/हिसार, 18 अक्तूबर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर आज बड़ा हमला बोलते हुये कहा कि उसने देश में

रुपया दो पैसे चढ़ा
रुपया दो पैसे चढ़ा

मुंबई 18 अक्टूबर  दुनिया की प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के कमजाेर पड़ने और घरेलू स्तर पर शेयर बाजार में तेजी