लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी

स्थानीय

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

मंदिर के 200 फुट नीचे डाला जाएगा टाइम कैप्सूल, ताकि सुरक्षित रहे इतिहास

मंदिर के 200 फुट नीचे डाला जाएगा टाइम कैप्सूल, ताकि सुरक्षित रहे इतिहास

अयोध्या (डीएनएन)।   28 Jul 2020      Email  

श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे, लेकिन इस पल के मंदिर निर्माण से जुड़े लोगों को लंबी लड़ाई लड़नी पड़ी। वर्षों कोर्ट-कचहरी के चक्कर लगाने के बाद कहीं जाकर श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का रास्ता सुगम हो सका है। भविष्य में कभी ऐसी परिस्थितियों को सामना न करना पड़े इसके लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट अब राम मंदिर निर्माण स्थल पर जमीन में लगभग 200 फुट नीचे एक टाइम कैप्सूल रखेगा। इसका मकसद यह है कि सालों बाद भी यदि कोई श्रीराम जन्मभूमि के बारे में जानना चाहे तो वो इससे जान सकता है। राम जन्मभूमि के इतिहास को सिद्ध करने के लिए जितनी लंबी लड़ाई कोर्ट में लड़नी पड़ी है, उससे यह बात सामने आई है कि अब जो मंदिर बनवाएंगे, उसमें एक टाइम कैप्सूल बनाकर दो सौ फुट नीचे डाला जाएगा। भविष्य में जब कोई भी इतिहास देखना चाहेगा तो श्रीराम जन्मभूमि के संघर्ष के इतिहास के साथ यह तथ्य भी निकल कर आएगाए जिससे कोई भी विवाद जन्म ही नहीं लेगा। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने इस तथ्य की पुष्टि की है। उनके अनुसार राम मंदिर निर्माण स्थल पर जमीन में लगभग 200 फुट नीचे एक टाइम कैप्सूल रखा जाएगा। इसका मकसद ये है कि वर्षों बाद भी अगर कोई राम जन्मभूमि के बारे में जानना चाहे तो वो इससे जान सकता है। श्रीराम मंदिर भूमि पूजन का कार्यक्रम अयोध्या में पांच अगस्त को होगा। भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अयोध्या जाएंगे। कोरोना महामारी को देखते हुए भूमि पूजन कार्यक्रम में कुल 200 मेहमानों के शामिल होने की उम्मीदर है। श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन का मुहूर्त पांच अगस्त को 12 बजकर 15 मिनट 15 सेकेंड से 12 बजकर 15 मिनट 47 सेकेंड तक है। यानी पीएम मोदी 32 सेकेंड में भूमि पूजन करेंगे। 


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

जलशक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी संक्रमित
जलशक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी संक्रमित

यूपी भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। उन्होंने ट्वीट कर खुद यह