ताजा समाचार

समाचार विवरण

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ', सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40,
फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewslko@gmail.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

कोरोना वायरस के नए खतरे वाले देशों की उड़ानों पर विशेष ध्यान: सिंधिया
कोरोना वायरस के नए खतरे वाले देशों की उड़ानों पर विशेष ध्यान: सिंधिया
नयी दिल्ली, 03 दिसंबर (वार्ता)    03 Dec 2021       Email   

नयी दिल्ली, 03 दिसंबर .... केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शुक्रवार को कहा कि कोराेना वायरस के नये स्वरूप-ओमिक्रॉन के संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।

श्री सिंधिया ने एक निजी चैनल के कार्यक्रम में अपने मंत्रालय से जुड़े मुद्दों पर कहा कि इस वायरस के संक्रमण की दृष्टि से अधिक खतरे देशों से आने वाली उड़ानों पर विशेष निगरानी की जा रही है। उन्होंने इस बारे में एक सवाल पर कहा,

“कोराेना वायरस के नये वैरिएंट-ओमिक्रॉन से उत्पन्न चुनौतियों के लिए हमें तैयार रहना चाहिए। अभी दुनिया में जीनोम सीक्वेंसिंग के जरिए इसकी जांच हो रही है लेकिन इसके लिए हमें सावधान रहना चाहिए।”

उन्होंने कहा, “ हमने संक्रमण वाले 11 देशों को चिह्नित कर इन देशों से आने वाली उड़ानों पर विशेष निगरानी की व्यवस्था की है। उनके यात्रियों को आरटीपीसीआर जांच के बाद ही हवाई अड्डे से बाहर आने दिया जा रहा है। ”

नागर विमानन मंत्री ने बताया कि ऐसे करीब 8.5 हजार यात्रियों का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया गया है। उन्होंने कहा, “आवा-गमन की सुविधा जरूरी है तो सुरक्षा भी जरूरी है।”

श्री सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने नागर विमानन क्षेत्र का लोकतंत्रीकरण किया है। आम नागरिकों के लिए विमान यात्रा सुलभ बनाने की पहल ‘उड़ान’ योजना से यात्रियों की संख्या बढ़ी है। उन्होंने कहा, “ तीस-चालीस साल पहले विमान यात्रा कुछ चुनींदा लोगों तक सीमित थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका लोकतंत्रीकरण किया। यह काम उड़ान योजना के माध्यम से किया जा रहा है। ”

उन्होंने कहा कि उड़े देश का आम नागरिक (उड़ान) योजना द्वारा देश में हवाई अड्डा नेटवर्क में ऐसे ऐसे हवाई अड्डे जुड़ रहे हैं जिनका लोगों ने नाम भी नहीं सुना होगा। झारसुगुड़ा और दरभंगा जैसी जगहें नागर विमानन सुविधा से जुड़ गयी हैं और वहां के हवाई अड्डों से साल में तीन से चाल लाख यात्री आ जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नागर विमान क्षेत्र केवल विमानों की उड़ान तक सीमित नहीं है। इसमें हवाई अड्डा, पायलट प्रशिक्षण, विमानों की मरम्मत और रख-रखाव, विमान विनिर्माण जैसी सुविधाओं का पूरा एक पारिस्थितिकीय वातावरण होता है। उन्होंने कहा कि भातर में हर वर्ष आठ नौ हजार पायलट चाहिए। इनमें से 90 प्रतिशत का प्रशिक्षण विदेशों में होता है जिसकी अपनी बड़ी लागत है। विमानों के मेंटेनेंस के लिए विदेशी सेवाओं पर निर्भरता है। सरकार विमान एमआरओ के मामले में नीति पर काम कर रही है। भारत विदेशी कंपनियों ने के लिए विमान और हेलीकाप्टर के कुछ हिस्से पुर्जे बनाने लगा है, इसका विस्तार करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जब हम अपने यहां विमान बनाने लगेंगे, पूरा पारिस्थितिकीय वातावरण विकसित होगा तो हम इस क्षेत्र में मजबूती से बढ़ेंगे।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की अपनी दावेदारी पर एक सवाल के जवाब में सिंधिया ने कहा कि वह किसी पद के पीछे कभी नहीं थे। उन्होंने कहा कि वह कभी भी किसी पद के पीछे नहीं भागे, पर वह लोंगों की सेवा और लोगों की तरक्की के लिए काम जरूर करना चाहते हैं।


Comments

अन्य खबरें

योगी ने नेता जी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि अर्पित की
योगी ने नेता जी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि अर्पित की

लखनऊ, 23 जनवरी .... उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के अवसर पर रविवार को उन्हें भावभानी श्रद्धांजलि अर्पित की। योगी

आज का इतिहास
आज का इतिहास

नयी दिल्ली 23 जनवरी .... भारतीय एवं विश्व इतिहास में 24 जनवरी की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार है.. 1556 – चीन में भीषण भूकम्प में आठ लाख तीस हज़ार लोगों की मौत हुई। 1722- एडवर्ड विगलेसवर्थ को प्रथम

प्रथम भारत-मध्य एशिया शिखर बैठक 27 जनवरी को
प्रथम भारत-मध्य एशिया शिखर बैठक 27 जनवरी को

नयी दिल्ली 19 जनवरी .... भारत 27 जनवरी को प्रथम भारत-मध्य एशिया शिखर बैठक का आयोजन करेगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मेजबानी में वर्चुअल माध्यम से होने वाली इस शिखर बैठक में कज़ाखस्तान,

ओबीसी आरक्षणः महाराष्ट्र की गुहार पर सुप्रीम कोर्ट 19 जनवरी को सुनवाई
ओबीसी आरक्षणः महाराष्ट्र की गुहार पर सुप्रीम कोर्ट 19 जनवरी को सुनवाई

नयी दिल्ली, 17 जनवरी ... महाराष्ट्र सरकार ने स्थानीय निकायों के चुनावों में अन्य पिछड़ी जातियों (ओबीसी) के लिए 27 फ़ीसदी आरक्षण लागू करने की उम्मीद में सोमवार को एक बार फिर उच्चतम न्यायालय का दरवाजा