लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
मोदी ने रोडम नरसिम्हा के निधन पर शोक व्यक्त किया
एक साल में कानपुर से गुजरात के बंदरगाहों तक खुलेगा डीएफसी लिंक
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल

देश

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

वैक्सीन की कीमत एकसमान रखने की आवश्यकता: सुप्रीम कोर्ट

वैक्सीन की कीमत एकसमान रखने की आवश्यकता: सुप्रीम कोर्ट

नयी दिल्ली, 31 मई (वार्ता)  31 May 2021      Email  

नयी दिल्ली, 31 मई ... उच्चतम न्यायालय ने कोरोना वैक्सीन की कीमत में एकरूपता न होने को लेकर नाराजगी जताते हुए सोमवार को कहा कि पूरे देश में कोरोना वैक्सीन की कीमत एक समान रखी जानी चाहिए।

न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़, न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव और न्यायमूर्ति एस रवीन्द्र भट की अवकाशकालीन खंडपीठ ने कोरोना के टीके की अलग-अलग कीमतों के कारण केंद्र सरकार से नाराजगी जतायी। उसने केंद्र सरकार से कोविड वैक्सीन के दोहरे मूल्य और खरीद नीति को लेकर कई सवाल किये।

न्यायमूर्ति भट्ट ने कहा, “हम जानना चाहते हैं कि वैक्सीन की कीमत को लेकर क्या पॉलिसी हैं।” खंडपीठ कोरोना की दूसरी लहर के दौरान जरूरी सेवाओं के वितरण एवं आपूर्ति के संबंध में स्वत: संज्ञान मामले की सुनवाई कर रही थी।

केंद्र सरकार की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि ऑक्सीजन टास्क फोर्स ने मसौदा रिपोर्ट तैयार कर ली है, लेकिन इसे अभी अंतिम रूप दिया जाना बाकी है।

श्री मेहता ने कहा कि पात्र आबादी को इस वर्ष के अंत तक टीका लगा दिया जाएगा, केंद्र सरकार अन्य टीका निर्माताओं जैसे फाइजर के साथ चर्चा कर रही है।

उन्होंने कहा कि कई राज्यों ने टीके के लिए ग्लोबल टेंडर जारी किये हैं, लेकिन वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां जैसे फाइजर या अन्य की अपनी नीति है वे सीधे देश से बात करती है, राज्य से बात नहीं करती हैं।

इस मामले में न्यायमित्र वरिष्ठ अधिवक्ता जयदीप गुप्ता और सुश्री मीनाक्षी अरोरा ने भी अपना पक्ष रखा।

श्री मेहता के यह कहने के बाद कि सरकार विस्तृत हलफनामा पेश करेगी, न्यायालय ने मामले की सुनवाई दो सप्ताह के लिए स्थगित कर दी।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

विधान सभा चुनावी मुकाबले को भाजपा कार्यकर्ता तैयार: स्वतंत्र देव सिंह
विधान सभा चुनावी मुकाबले को भाजपा कार्यकर्ता तैयार: स्वतंत्र देव सिंह

वाराणसी, 13 जून ... उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकाल में सबसे अधिक विकास का दावा करते हुए इसके प्

आज का इतिहास
आज का इतिहास

नयी दिल्ली 13 जून ... भारतीय एवं विश्व इतिहास में 14 जून की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं: 1595- सिखों के छठे गुरु हरगोवि