ताजा समाचार

समाचार विवरण

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ', सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40,
फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewslko@gmail.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

राष्ट्रीय संपत्तियों की निजीकरण की नीति देश के लिये घातक: मायावती
राष्ट्रीय संपत्तियों की निजीकरण की नीति देश के लिये घातक: मायावती
लखनऊ, 04 अगस्त    04 Aug 2022       Email   

लखनऊ, 04 अगस्त 

कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकारों पर गरीबी,बेरोजगारी की समस्या के निदान में उदासीनता बरतने का आरोप लगाते हुये बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने गुरूवार को कहा कि बहुमूल्य राष्ट्रीय सम्पत्तियों का जिस धड़ल्ले से निजीकरण किया जा रहा है वह देश की बुनियाद को खोखला करने जैसा ही घातक है।

हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना राज्यों में पार्टी के क्रियाकलापों की समीक्षा करने के दौरान सुश्री मायावती ने गुरूवार को कहा कि बहुमूल्य राष्ट्रीय सम्पत्तियों का जिस धड़ल्ले से निजीकरण किया जा रहा है वह देश की बुनियाद को खोखला करने जैसा ही घातक है। देश की पूंजी को बेच कर बड़े-बड़े पूंजीपतियों व धन्नासेठों के स्वार्थ के सहारे देश की लगभग 130 करोड़ गरीब जनता को बेसहारा नहीं छोड़ देना चाहिए। इसका नतीजा घातक होगा।

उन्होने कहा कि हरियाणा, मध्य प्रदेश, यूपी का नाम आते ही वहाँ व्याप्त गरीबी,बेरोजगारी,जातिवादी व साम्प्रदायिक तनाव-हिंसा आदि की दुःखद तस्वीर सामने आ जाती है जबकि यहाँ इन राज्यों में वर्षों से कथित डबल इंजन की सरकारें होने के कारण उन राज्यों में बहुप्रचारित सरकारी विकास व स्मार्ट राज्य के सुखद जीवन की सुनहरी तस्वीर लोगों के सामने उभर कर आनी चाहिए थी।

सुश्री मायावती ने कहा कि कांग्रेस-शासित छत्तीसगढ़ व राजस्थान तथा आंध्र प्रदेश व तेलंगाना में भी जन आपेक्षा के अनुसार लोगों की सबसे बड़ी समस्या अति-गरीबी व बेरोजगारी आदि को दूर करने के लिए रोजी-रोजगार के ज़रूरत का सही से व्यवस्था पूरी नहीं होने पर लोगों का वही बुरा हाल है जो देश के अन्य राज्यों में लगातार बना हुआ है। कर्नाटक में भी नफरती हिंसा व हत्या का दुष्चक्र अति-दुःखद है। सरकारों को संकीर्णता त्याग कर न्याय-आधारित कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करना बहुत जरूरी है।

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि केन्द्र व उसका देखादेखी अधिकतर राज्यों की सरकारें भी लोगों की रोजी-रोटी तथा महंगाई, गरीबी, बेरोजगारी आदि के मामले में उतनी चिन्तित, गंभीर व एक्टिव नहीं जितनी इस ज्वलन्त समस्या के प्रति उन्हें होना चाहिए तथा वैसा लोगों को महसूस भी होना चाहिए।

इसके साथ ही, धनबल के सहारे राज्यों में सरकारों को गिराने का गंदा खेल भी बंद होना चाहिए। महाराष्ट्र के बाद आज कल एक बार फिर से झारखण्ड की आदिवासी समाज के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार गिराए जाने के लिए षडयंत्र की चर्चायें काफी जोरों पर है, जो घोर अनुचित है। राजनीति में पहले अपराधियों का बोलबाला होने के कारण अस्थिर व बदनाम थी, किन्तु अब धनबल भी इसमें काफी ज्यादा हावी हो गया है, तो फिर ऐसे में छोटी पार्टियों की सरकारों का जीवित रह पाना असंभव नहीं, तो काफी मुश्किल जरूर होता जा रहा है।


Comments

अन्य खबरें

गुरूजी के अवतार में दिखेगें एम एस धोनी
गुरूजी के अवतार में दिखेगें एम एस धोनी

नयी दिल्ली 09 अगस्त ... अगरबत्ती और धूपबत्ती क्षेत्र की प्रमुख कंपनी मैसूर दीप परफ्यूमरी हाउस (एमडीपीएच) के प्रमुख ब्रांड ज़ेड ब्लैक अगरबत्ती ने अपना नया अभियान लॉन्च किया है जिसमें उसके ब्रांड

भारतीय भारत के साथ व्यापार समझौते करने को इच्छुक हैं विकसित देश: गोयल
भारतीय भारत के साथ व्यापार समझौते करने को इच्छुक हैं विकसित देश: गोयल

नयी दिल्ली, 09 अगस्त .... वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को कहा कि दुनिया भारत को आर्थिक विकास के इंजन के रूप में देखती है और विकसित देश हमारे साथ व्यापार समझौते करने को इच्छुक

भारत में 27 माह में एलपीजी 41 प्रतिशत, विश्व बाजार में 203 प्रतिशत महंगी
भारत में 27 माह में एलपीजी 41 प्रतिशत, विश्व बाजार में 203 प्रतिशत महंगी

नयी दिल्ली 09 अगस्त .... भारत में रसोई गैस की खुदरा कीमतों में अप्रैल 2020 की तुलना में 41 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गयी है जबकि इस दौरान वैश्विक बाजार में एलपीजी के मानक अनुबंध का भाव तीन गुना हो

आज का इतिहास
आज का इतिहास

नयी दिल्ली 09 अगस्त .... भारतीय एवं विश्व इतिहास में 10 अगस्त की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं :- 1809 : इक्वाडोर को स्पेन से स्वतंत्रता (आजादी) मिली। 1822 : सीरिया में आए भूकंप से लगभग 20,000 लोगों