लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार

समाचार विवरण

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ', सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40,
फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewslko@gmail.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

अश्विन की गलती ने बढ़ाई भारत की मुश्किलें, इंग्लैंड की दूसरी पारी में 5/0 के साथ शुरूआत
अश्विन की गलती ने बढ़ाई भारत की मुश्किलें, इंग्लैंड की दूसरी पारी में 5/0 के साथ शुरूआत
Daily News Network    16 Feb 2024       Email   

हाल के इंडिया बनाम इंग्लैंड टेस्ट मैच में, रविचंद्रन अश्विन ने अपनी पारी के दौरान एक महत्वपूर्ण गलती की वजह से चर्चा का केंद्र बन गए। इस गलती के कारण उन्हें और भारत को पांच रनों का जुर्माना लगा, जिससे खेल की गतिविधियों पर प्रभाव पड़ा और इंग्लैंड को उनकी दूसरी पारी शुरू करने के लिए एक मुआवजा मिला, जिसमें उनका स्कोर 5/0 से आरंभ हुआ। यह घटना भारतीय पारी के 102वें ओवर के दौरान घटित हुई।

अश्विन, जिन्हें उनकी ऑल-राउंड क्षमताओं के लिए जाना जाता है, ने पहली पारी में 89 गेंदों पर 37 रनों का योगदान दिया था। हालांकि, उनकी खुद की बैटिंग के दौरान उन्होंने इस भूल को कर दिया। जब उन्होंने विकेट्स के बीच दौड़ने का प्रयास किया, तो फील्ड पर कार्रवाई करने वाले अंपायर जोएल विल्सन ने भारत पर पांच रनों का जुर्माना लगा दिया।

इस घटना का विवाद तब उत्पन्न हुआ जब लेग-स्पिनर एडिल रशीद ने एक फ्लाइटेड गेंद डाली और अश्विन ने सिंगल लेने के लिए पारी की ओर दौड़ा। हालांकि, नॉन-स्ट्राइकर ने उन्हें वापस भेज दिया और इसके परिणामस्वरूप अश्विन को अपनी राह में बदलना पड़ा, जिससे उन्होंने संरक्षित क्षेत्र में प्रवेश किया।

अश्विन और अंपायर के बीच हुई विवाद ने काफी समय तक जारी रहा, लेकिन निर्णय में कोई बदलाव नहीं हुआ। अंपायर ने पांच रनों का मुक़ाबला करने का संकेत किया, जिसे इंग्लैंड के कुल स्कोर में जोड़ा जाएगा। इसे भारत के योग से काटा नहीं जाएगा। यदि इंग्लैंड पर संरक्षित क्षेत्र में दौड़ने के लिए पांच रनों का मुक़ाबला किया जाता होता, तो इसे उनके बैटिंग स्कोर में जोड़ा जाता।

इस घटना ने खेल के बीच दौड़ते समय की जटिलताओं और संरक्षित क्षेत्र के नियमों के प्रभावों को हाइलाइट किया और खिलाड़ियों को यहां कानूनों का पालन करने की आवश्यकता है। यह भी दिखाता है कि अंपायरों का कितना महत्वपूर्ण भूमिका है, जो नियमों का पालन करने में सक्षम होते हैं और खेल की ईमानदारी की रक्षा करते हैं। इस घटना ने मैच शृंगार के चरण को और भी रोचक बना दिया और इंडिया बनाम इंग्लैंड टेस्ट सीरीज को और भी दिलचस्प बना दिया।




यह वार्ता ने उठाए गए प्रश्नों को सामने लाया कि क्या अश्विन एकमात्र दोषी थे? जिस प्रकार से पहले दिन ही रविंद्र जडेजा को पिच के संरक्षित क्षेत्र में दौड़ने के लिए चेतावनी दी गई थी, वैसे ही जब उन्होंने दूसरी बार यह किया, तो अंपायर ने पहली और आखिरी चेतावनी दी गई। यह चेतावनी पहली पारी में पूरी भारतीय टीम के लिए थी। जब अश्विन ने इसे मैच के दूसरे दिन फिर से किया, तो अंपायर ने भारत पर पांच रनों का जुर्माना लगा दिया।

पिच के बीच से दौड़ना अनफेयर प्ले के दायरे में आता है और इसे एमसीसी कानून 41.14 में शामिल किया गया है। इस नियम का उद्देश्य पिच के एक विशिष्ट क्षेत्र को सुरक्षित रखना है। इस क्षेत्र में किसी भी प्रकार के क्षति का प्रयास करना माना जाता है और इसके लिए यदि कोई गलती होती है, तो उस पर दंड लगता है।

इस प्रकार का दौड़ना खेल की ईमानदारी और नैतिकता को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है और इसकी चर्चा ने खेल में नियमों के पालन की महत्वपूर्णता को उजागर किया। यह घटना ने खेल में और भी दरारें डाल दी है और भारत और इंग्लैंड के बीच जारी टेस्ट सीरीज को और भी रोचक बना दिया है।




Comments

अन्य खबरें

भाजपा रविवार को जारी करेगी चुनावी घोषणा पत्र
भाजपा रविवार को जारी करेगी चुनावी घोषणा पत्र

नयी दिल्ली।  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) लोकसभा चुनाव 2024 के लिए 14 अप्रैल को घोषणा पत्र जारी करेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में यहां स्थित भाजपा मुख्यालय में चुनावी

आज का इतिहास
आज का इतिहास

नयी दिल्ली।  भारतीय एवं विश्व इतिहास में 14 अप्रैल की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ इस प्रकार है।1659-औरंगजेब ने दिल्ली पर हुकूमत की लड़ाई में दारा को हराया। 1862-गुजरात के प्रमुख सार्वजनिक कार्यकर्त्ता

रेलवे देगी स्टेशनों पर पेयजल की उपलब्धता की गारंटी
रेलवे देगी स्टेशनों पर पेयजल की उपलब्धता की गारंटी

नयी दिल्ली।  रेल मंत्रालय ने देश के सभी स्टेशनों पर यात्रियों को पीने योग्य पानी उपलब्ध कराने की गारंटी के लिए विशेष दिशानिर्देश जारी किये हैं। रेल मंत्रालय ने गर्मी के मौसम और संभावित

अदालती कामकाज में एआई का उपयोग अवसर के साथ चुनौतियाँ भी लाता है: न्यायमूर्ति चंद्रचूड़
अदालती कामकाज में एआई का उपयोग अवसर के साथ चुनौतियाँ भी लाता है: न्यायमूर्ति चंद्रचूड़

नयी दिल्ली।  उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ ने शनिवार को कहा कि अदालती कामकाज में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का उपयोग अवसर के साथ-साथ कई चुनौतियां भी लेकर आता है। इन