लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार

समाचार विवरण

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ', सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40,
फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewslko@gmail.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ जीत कर भाजपा ने सीखा, नया सांगठनिक कौशल
मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ जीत कर भाजपा ने सीखा, नया सांगठनिक कौशल
एजेंसी    03 Dec 2023       Email   

नयी दिल्ली  मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों के परिणामों ने रविवार को यह साबित किया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लंबे समय तक सत्ता में रहने के बावजूद तीव्र सत्ताविरोधी रुझान और विपक्ष में रहते हुए एक सक्रिय एवं आक्रामक सत्तारूढ़ दल को पराजित करने का अद्वितीय हुनर सीख लिया है। चार राज्यों के विधानसभा चुनावों की आज हुई मतगणना में दोपहर बाद ही तस्वीर साफ हो गयी। रुझानों के अनुसार मध्यप्रदेश की 230 सीटों पर हुए चुनावों में दोपहर बाद लगभग दो बजे तक भाजपा 161, कांग्रेस 66, बसपा दो और भारत आदिवासी पार्टी एक सीट पर बढ़त बना चुकी थी। भाजपा ने करीब 48.84 प्रतिशत और कांग्रेस ने 40.30 प्रतिशत वोट हासिल किये हैं।

छत्तीसगढ़ की 90 सदस्यीय विधानसभा में दोपहर दो बजे तक भाजपा 54, कांग्रेस 33, बसपा, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी एवं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी को एक-एक सीट पर बढ़त हासिल हो चुकी थी। छत्तीसगढ़ में भाजपा को 46.04 प्रतिशत और सत्तारूढ़ कांग्रेस को 42.02 प्रतिशत वोट हासिल हुये हैं। राजनीतिक प्रेक्षकों का कहना है कि मई जून के माह में तमाम सर्वेक्षणों में मध्य प्रदेश में कांग्रेस को 130 से अधिक सीटें और भाजपा को 60 से 70 के बीच सीटें मिलतीं बतायीं जा रहीं थीं। इसी प्रकार से छत्तीसगढ़ में भाजपा को 25 सीटें और सत्तारूढ़ कांग्रेस को दोबारा सत्ता में आते दिखाया जा रहा था। भाजपा का नेतृत्व भी इन सर्वेक्षणों को सिरे से खारिज करने की स्थिति में नहीं था।

मध्य प्रदेश में प्रशासन के भ्रष्टाचार एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति एक प्रकार की ऊबन का भाव देखा जा रहा था जबकि छत्तीसगढ़ में पार्टी के नेतृत्व की सुस्ती और दोनों राज्यों में कांग्रेस की सक्रियता एवं आक्रामकता को देख कर दोनों ही राज्यों में कांग्रेस की सत्ता में वापसी के दावे किये जा रहे थे। लेकिन भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व को यथावत बनाये रखने और केन्द्रीय मंत्री भूपेन्द्र यादव एवं अश्विनी वैष्णव की जोड़ी को चुनाव प्रभारी बनाकर उतार दिया। इसी प्रकार से छत्तीसगढ़ में सबसे अनुभवी नेताओं में से एक पार्टी उपाध्यक्ष ओम माथुर को कमान दी गयी। पार्टी नेतृत्व ने टिकट बंटवारे में सावधानी बरती। मध्यप्रदेश में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, तीन केन्द्रीय मंत्रियों नरेन्द्र तोमर, प्रह्लाद सिंह पटेल, फग्गन सिंह कुलस्ते और सांसद गणेश सिंह, राकेश सिंह, रीति पाठक और राव उदयप्रताप सिंह को उतारा और आंतरिक असंतोष से जूझ रहे कार्यकर्ताओं से अलग-अलग बात करके उन्हें मनाया। उधर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महिला मतदाताओं को लक्षित करके लाड़ली बहना योजना शुरू की और महिलाओं को हर माह डेढ़ हजार रुपये देना शुरू किया।

छत्तीसगढ़ में प्रदेश अध्यक्ष सांसद अरुण साव सहित संगठन के अनेक पदाधिकारियों, पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को चुनावी मैदान में उतारा और जनता से मिले फीडबैक के आधार पर चुनावी संकल्प पत्र तैयार करके धान खरीदी, महतारी वंदन योजना, तेंदुपत्ता खरीद, पीएससी घोटाले की जांच आदि वादे किये और महादेव ऐप को लेकर सीधे सीधे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को निशाना साधा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैलियों ने भी जनता के रुझान को मोड़ दिया।

गृह मंत्री अमित शाह एवं भाजपा के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सघन दौरे करके छोटी छोटी सांगठनिक कमियों को दूर किया और स्थानीय कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों को सुस्ती दूर कर सक्रियता से जुटने के लिए प्रेरित किया। दाेनों राज्यों में मतदान वाले दिन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने बड़े पैमाने पर उदासीन मतदाताओं को घरों से निकाला और रिकॉर्ड मतदान सुनिश्चित किया। इन सब कारणों ने भाजपा को जीत के मुकाम पहुंचा दिया। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर हालांकि कई बार मतगणना में पिछड़े जबकि राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा कांग्रेस के उम्मीदवार से छह हजार से अधिक मतों से पीछे चल रहे थे।

राजनीतिक प्रेक्षकों का कहना है कि मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में भाजपा की जीत अपेक्षा से अधिक बड़ी है। ये रुझान बताते हैं कि भाजपा ने हिन्दी पट्टी के एक प्रमुख राज्य में 18 साल सत्ता में रहने के बावजूद सत्ताविरोधी रुझान को पराजित करने तथा विपक्ष में रहते हुए एक आक्रामक सरकार को बिना कोई आक्रामक रुख अपनाये सीधे मुकाबले में धराशायी कर दिया। मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के नेता इस समय सदमे में हैं।

मध्यप्रदेश में जीत के सेहरे के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जनता ने सबको जवाब दे दिया है। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने ट्वीट करके कहा, “अंधेरा छँट गया है, सूरज निकल चुका है, कमल खिलने जा रहा है। सभी कार्यकर्ता साथी इस मतगणना की प्रक्रिया से जुड़े रहें क्योंकि बहुत जल्द भाजपा आवत है। श्री मोदी आज शाम पांच बजे यहां भाजपा मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।






Comments

अन्य खबरें

विकास की गति में अवरोध बनी मोदी सरकार : राहुल
विकास की गति में अवरोध बनी मोदी सरकार : राहुल

नयी दिल्ली।  कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के समय देश ने प्रगति की जो रफ्तार पकड़ी थी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार उस गति

केन्द्र , त्रिपुरा और टिपरा मोथा के बीच त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर
केन्द्र , त्रिपुरा और टिपरा मोथा के बीच त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर

नयी दिल्ली।  केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की उपस्थिति में शनिवार को यहां केन्द्र सरकार, त्रिपुरा सरकार और द इंडीजिनीयस प्रोग्रेसिव रिजनल एलासंय (तिपरा) जिसे टिपरा मोथा के नाम से जाना जाता

गौतम गंभीर ने लोकसभा चुनाव न लड़ने की जतायी इच्छा
गौतम गंभीर ने लोकसभा चुनाव न लड़ने की जतायी इच्छा

नयी दिल्ली।  लोकसभा की पूर्वी दिल्ली सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद गौतम गंभीर ने आगामी लोकसभा चुनाव न लड़ने का फैसला लिया है। श्री गंभीर ने भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा

शाह ने शहरी सहकारिता विकास निगम लिमिटेड का उद्घाटन किया
शाह ने शहरी सहकारिता विकास निगम लिमिटेड का उद्घाटन किया

नयी दिल्ली।  केन्द्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह ने शनिवार को यहां शहरी सहकारी बैंकों के अम्ब्रेला संगठन, राष्ट्रीय शहरी सहकारिता वित्त और विकास निगम लिमिटेड का उद्घाटन किया। इस अवसर पर