लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
मोदी ने रोडम नरसिम्हा के निधन पर शोक व्यक्त किया
एक साल में कानपुर से गुजरात के बंदरगाहों तक खुलेगा डीएफसी लिंक
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल

स्थानीय

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

पर्यावरण है तो प्रकृति है, प्रकृति है तो जीव सृष्टि भी

पर्यावरण है तो प्रकृति है, प्रकृति है तो जीव सृष्टि भी

लखनऊ।   06 Jun 2021      Email  

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पर्यावरण है तो प्रकृति है, प्रकृति है तो जीव सृष्टि भी है। इसलिए जीव सृष्टि की सुरक्षा के लिए आवश्यक है कि सभी लोग पर्यावरण के प्रति जागरूक हों।  उन्होंने कहा कि हम सब तभी तक सुरक्षित हैं, जब तक हमारा पर्यावरण सुरक्षित है। हमें प्रकृति और पर्यावरण के बीच में समन्वय बनाकर रखना होगा, यह हमारा नैतिक दायित्व भी है।
विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करने से पहले उन्होंने चंदन का पौधा रोपित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार विगत वर्षों के दौरान पर्यावरण को संरक्षित करने के उद्देश्य से वृहद स्तर पर वृक्षारोपण कर रही है। राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2017 में 5 करोड़, वर्ष 2018 में 11 करोड़ तथा वर्ष 2019 में 22 करोड़  पौधे रोपित किए गए। इसी प्रकार वर्ष 2020 में कोरोना कालखंड में भी 25 करोड़ से अधिक वृक्ष लगाए गए। उन्होंने कहा कि इस वर्ष आगामी जुलाई माह में वन महोत्सव के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा 30 करोड़ पौधों को रोपित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 
उन्होंने कहा कि पौधरोपण कार्यक्रम में परंपरागत वृक्षों जैसे पीपल, बरगद, पाकड़, देशी आम व अन्य औषधीय वृक्षों को महत्व देने की आवश्यकता है। यह वृक्ष प्रकृति की सुरक्षा और संरक्षण में योगदान देते हैं। उन्होंने कहा कि विगत वर्ष प्रदेश सरकार द्वारा वन विभाग को एक लक्ष्य दिया गया था कि जिसके क्रम में 100 वर्ष से अधिक आयु के जितने भी पेड़ है, उन्हें हेरिटेज वृक्ष के रूप में संरक्षित करने का महा अभियान चलाया जा रहा है।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

विधान सभा चुनावी मुकाबले को भाजपा कार्यकर्ता तैयार: स्वतंत्र देव सिंह
विधान सभा चुनावी मुकाबले को भाजपा कार्यकर्ता तैयार: स्वतंत्र देव सिंह

वाराणसी, 13 जून ... उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकाल में सबसे अधिक विकास का दावा करते हुए इसके प्

आज का इतिहास
आज का इतिहास

नयी दिल्ली 13 जून ... भारतीय एवं विश्व इतिहास में 14 जून की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं: 1595- सिखों के छठे गुरु हरगोवि